{600+} दर्द भरी शायरी || Dard Bhari Shayari In Hindi

तो दोस्तों आज हम आप लोगों के साथ हमारा दर्द भरी शायरी (Dard Bhari Shayari) का कलेक्शन साझा करने वाले हैं आप लोगों के साथ तो हमें उम्मीद है आप लोगों को यह कलेक्शन जरूर पसंद आएगा।

दर्द भरी शायरी आप ढूंढ रहे हो तो इसका यह मतलब है कि आपको दर्द महसूस हो रहा है या फिर किसी के द्वारा आप दर्द मिला है या फिर आप किसी से प्यार करते हैं और फिर ब्रेकअप हो गया तो आपको उस बैकअप का दर्द हो रहा होगा या फिर किसी ने आपका विश्वास तोड़ा है इसी के कारण आप दर्द भरी शायरी ढूंढ रहे हो।

Dard Bhari Shayari In Hindi
दर्द भरी शायरी
Dard Bhari Shayari 2 Line
Dard Bhari Shayari Photo
दर्द भरी शायरी हिंदी में
Dard Bhari Shayari Status

ज्यादातर तो दर्द भरी शायरी वह लोग ढूंढते हैं जो अक्सर प्यार में फेल हो जाते हैं या फिर उनको प्यार में धोखा मिलता है और वहां अपने दर्द को कम करने के लिए दर्द भरी शायरी पढ़ते हैं और स्टेटस स्टोरी और डीपी लगाते हैं जिसके कारण उन्हें अपने दर्द से राहत मिलती है।

दर्द भरी शायरी आप लोग कहीं से भी सर्च करके आए हो तो आप सही जगह पर आए हो मेरे दोस्त क्योंकि यहां हमने बहुत सारी दर्द भरी शायरियों का कलेक्शन करके रखा है क्योंकि आप लोगों को जरूर पसंद आएगा।

तो जल्दी से आप लोग नीचे स्क्रॉल करके जाइए और अपने मनपसंद की दर्द भरी शायरी यानी की अपने पर जो सही लगती है उस शायरी को ढूंढिए इस दर्द भरी शायरियों में से आपको कोई ना कोई दर्द भरी शायरी जरूर पसंद आएगी।

Dard Bhari Shayari Images

कभी बेवफा लोगो की तारीफ भी कर दो,
इतना प्यार किया था तो इज़हार भी कर दो,,
फिर एक दफा उस प्यार को याद भी कर लो।

Dard Bhari Shayari In Hindi
दर्द भरी शायरी
Dard Bhari Shayari 2 Line
Dard Bhari Shayari Photo
दर्द भरी शायरी हिंदी में
Dard Bhari Shayari Status

अपने हुस्न पर नाज़ करना उसका गुरूर हैं,
हर दिन नया आशिक़ बनाना उसका सुरूर हैं।
मेरा दिल उसके बेवफाई पर भी फितूर हैं,
अब तुम्ही बताओ यारो इसमें मेरा क्या कसूर हैं।

Dard Bhari Shayari In Hindi
दर्द भरी शायरी
Dard Bhari Shayari 2 Line
Dard Bhari Shayari Photo
दर्द भरी शायरी हिंदी में
Dard Bhari Shayari Status

जो ज़िंदगी है वो ज़िंदगी मे नही हैं,
जिसका इबादत करूँ वो बंदगी में नही हैं।
लगता इश्क़ का उसूल ही यही हैं,
यहाँ दिल से जो चाहता हैं वही दिल्लगी में नही हैं।

Dard Bhari Shayari In Hindi
दर्द भरी शायरी
Dard Bhari Shayari 2 Line
Dard Bhari Shayari Photo
दर्द भरी शायरी हिंदी में
Dard Bhari Shayari Status

दिल है पर धड़कना नही जानता,
आशिक़ है पर इश्क़ करना नही चाहता।
मैंने ही गलती कर दी उससे प्यार करके,
क्योंकि मेरा दिल जिसे चाहता है वो छोड़ना नही जानता।

Dard Bhari Shayari In Hindi
दर्द भरी शायरी
Dard Bhari Shayari 2 Line
Dard Bhari Shayari Photo
दर्द भरी शायरी हिंदी में
Dard Bhari Shayari Status

उसके शहर में प्यार के मेले हैं,
उसकी बेवफाई के हर दर्द झेले हैं।
मेरे इश्क़ का तग़ज़ा तो देखो,
उसे पाने के खातिर मौत के खेले भी खेले हैं।

Dard Bhari Shayari In Hindi
दर्द भरी शायरी
Dard Bhari Shayari 2 Line
Dard Bhari Shayari Photo
दर्द भरी शायरी हिंदी में
Dard Bhari Shayari Status

वफ़ा के समंदर से बेवफाई का साहिल अच्छा है,
मरहम कितना भी लगाओ ज़ख्म अभी कच्चा हैं।
ये मुक़ामल इश्क़ की कहानियां मुझे मत सुना,
इश्क़ के राह में अभी छोटा बच्चा हैं।

Dard Bhari Shayari In Hindi
दर्द भरी शायरी
Dard Bhari Shayari 2 Line
Dard Bhari Shayari Photo
दर्द भरी शायरी हिंदी में
Dard Bhari Shayari Status

मजबूरी में जब कोई जुदा होता हैं,
जरूरी नहीं की वो बेवफा होता हैं।
देकर वो आपकी आँखों में आँशु,,
अकेले में आपसे ज्यादा रोता हैं।

Dard Bhari Shayari In Hindi
दर्द भरी शायरी
Dard Bhari Shayari 2 Line
Dard Bhari Shayari Photo
दर्द भरी शायरी हिंदी में
Dard Bhari Shayari Status

एक वक्त पर जाकर ये महसूस होता है की,
बेहतर होता अगर हम कुछ लोगो से मिले ही न होते।

Dard Bhari Shayari In Hindi
दर्द भरी शायरी
Dard Bhari Shayari 2 Line
Dard Bhari Shayari Photo
दर्द भरी शायरी हिंदी में
Dard Bhari Shayari Status

मत रखना उम्मीद इस दुनिया में हमदर्दी की,
बड़े प्यार से जख्म देते हैं, शिद्दत से चाहने वाले।

Dard Bhari Shayari In Hindi
दर्द भरी शायरी
Dard Bhari Shayari 2 Line
Dard Bhari Shayari Photo
दर्द भरी शायरी हिंदी में
Dard Bhari Shayari Status

दर्द इतना था मेरे दिल में मैं बता ना सका,
आंखों में आंसू है फिर भी गिराना पता चला गया।
वह शख्स हमेशा के लिए पर,
मैं अपने दिल की बात बता ना सका।

Dard Bhari Shayari In Hindi
दर्द भरी शायरी
Dard Bhari Shayari 2 Line
Dard Bhari Shayari Photo
दर्द भरी शायरी हिंदी में
Dard Bhari Shayari Status

दर्द भरी शायरी इमेजेस

हम आपको कितना यह हम से नहीं आप अपने आपसे पूछो,
लिखता है समाधि के बाजार में लाखों दर्द छुपे होते हैं।
एक छोटे से इनकार में वह क्या समझ पाएंगे प्यार की,
कशिश जिन्होंने फर्क ही नहीं समझा पसंद और प्यार में।

Dard Bhari Shayari In Hindi
दर्द भरी शायरी
Dard Bhari Shayari 2 Line
Dard Bhari Shayari Photo
दर्द भरी शायरी हिंदी में
Dard Bhari Shayari Status

वह छोड़ कर गए हमें ना जाने उनकी क्या मजबूरी थी,
खुदा ने कहा इसमें उनका कोई कसूर नहीं,,
यह कहानी तो मैंने लिखी ही अधूरी थी।

Dard Bhari Shayari In Hindi
दर्द भरी शायरी
Dard Bhari Shayari 2 Line
Dard Bhari Shayari Photo
दर्द भरी शायरी हिंदी में
Dard Bhari Shayari Status

प्यार में बेवफाई मिले तो गम ना करना,
अपनी आंखें किसी के लिए नम ना करना।
वह चाहे लाख नफरत करे तुम पर,
तुम अपना प्यार कभी उसके लिए कम ना करना।

Dard Bhari Shayari In Hindi
दर्द भरी शायरी
Dard Bhari Shayari 2 Line
Dard Bhari Shayari Photo
दर्द भरी शायरी हिंदी में
Dard Bhari Shayari Status

शायद जब नींद खुली तो पलकों में पानी था,
मेरे ख्वाब मुझ पर रो गए शायद।

Dard Bhari Shayari In Hindi
दर्द भरी शायरी
Dard Bhari Shayari 2 Line
Dard Bhari Shayari Photo
दर्द भरी शायरी हिंदी में
Dard Bhari Shayari Status

जिस किसी को भी चाहो वह बेवफा हो जाता है,
सर अगर झुका हो तो सनम खुदा हो जाता है,,

Dard Bhari Shayari In Hindi
दर्द भरी शायरी
Dard Bhari Shayari 2 Line
Dard Bhari Shayari Photo
दर्द भरी शायरी हिंदी में
Dard Bhari Shayari Status

जब तक काम आते रहो,
हमसफर कहलाते रहो।

Dard Bhari Shayari In Hindi
दर्द भरी शायरी
Dard Bhari Shayari 2 Line
Dard Bhari Shayari Photo
दर्द भरी शायरी हिंदी में
Dard Bhari Shayari Status

इतना रोया मेरी मौत पर मुझे जगाने के लिए मैं,
मरता ही क्यों अगर वह रो देता मुझे पाने के लिए।

Dard Bhari Shayari In Hindi
दर्द भरी शायरी
Dard Bhari Shayari 2 Line
Dard Bhari Shayari Photo
दर्द भरी शायरी हिंदी में
Dard Bhari Shayari Status

एक बात सदा याद रखना दोस्त सुख में सब मिलते है,
लेकिन दुख में सिर्फ भगवान मिलते है।

Dard Bhari Shayari In Hindi
दर्द भरी शायरी
Dard Bhari Shayari 2 Line
Dard Bhari Shayari Photo
दर्द भरी शायरी हिंदी में
Dard Bhari Shayari Status

अजीब सी दुनिया है अजीब से ठिकाने हैं,
यहां लोग मिलते कम है झांकते ज्यादा है।
दुनिया में अगर सबसे अच्छा सोचना है,
तो सर्वप्रथम किसी का बुरा सोचना बंद करना होगा।

Dard Bhari Shayari In Hindi
दर्द भरी शायरी
Dard Bhari Shayari 2 Line
Dard Bhari Shayari Photo
दर्द भरी शायरी हिंदी में
Dard Bhari Shayari Status

हम तो उनकी यादों में जी लेते थे,
मगर उन्होंने तो यादों में ही जहर मिला दिया।

Dard Bhari Shayari In Hindi
दर्द भरी शायरी
Dard Bhari Shayari 2 Line
Dard Bhari Shayari Photo
दर्द भरी शायरी हिंदी में
Dard Bhari Shayari Status

हम मौत को भी जीना सिखा देंगे,
बुझी जो समा उसे भी जला देंगे।

बहुत ही खूबसूरत शब्द लिखे थे,
दुनिया में छोड़ने जैसा कुछ है तो,,
दुसरों को नीचे दिखाना छोड़ दो।

काँटों पर चलकर फूल खिलते हैं,
विश्वास पर चलकर भगवान मिलते हैं।
सच बोलने से हमेशा दिल साफ़ रहता हैं,
अच्छाई करने से हमेशा मन साफ़ रहता हैं,,
मेहनत करने से हमेशा दिमाग़ साफ़ रहता हैं।

जीवन में हमेशा एक दूसरे को,
समझने का प्रयत्न करिए परखने का नहीं।

जब सोच में मोच आती है,
तब हर रिश्ते में खरोच आती है।
अवसर और सूर्योदय में एक ही,
समानता है, देर करने वाले इन्हें खो देते हैं।

Dard Bhari Shayari Photo

मीठा झूठ बोलने से अच्छा है,
कड़वा सच बोला जाए।
इससे आपको सच्चे दुश्मन जरूर मिलेंगे,
लेकिन ‘झूठे दोस्त’ नहीं।

इन सांसो में तेरी यादे बस जाती हैं,
जो याद न करूँ तो मेरी जान जाती है।
मैं कैसे कह दूँ मोहब्बत नही है,
तुझसे,जब ये साँसे तुझसे जुड़ जाती हैं।

सुबह होती है शाम होती है,
यूँ ही जिंदगी तमाम होती है।
यूं तो उन्ही का होता है जीना,
जिनकी मोहब्बत में सुबह और शाम होती है।

तुझे किया कभार के तेरी यादों ने मुझे किस तरह सताया,
कभी अकेले में हँसा दिया तो कभी अकेले में रोल दिया।

बंसिरी से सीख ले ए ज़िन्दगी सबक जीने का,
कितने छेद है सीने में फिर भी गुनगुनाती रहेती है।

बेताब हम भी थे दर्द जुदाई की कसम,
रोता वो भी होगा नज़रें चुरा चुरा कर।

में खुश हूँ कि तेरी नफ़रतों का अकेला वारिस हूँ,
वरना मोहब्बत तो तुझे बहुत से लोग करते है।

तड़प रही है हर एक तमन्ना न तुमसे मिलते न ऐसा होता,
भुजी भुजी सी है दिल कीदुनिया न तुम से मिलते न ऐसा होता।

हम अजनबी थे जब तुम बातें खूब किया करते थे,
अब सना साईं है तो तुम हमको याद भी नहीं करते।

मोहब्बत वो हसीं गुनाह है,
जो मैंने तुझसे ख़ुशी से किया है।
पर मोहब्बत में इंतज़ार वो सजा है,
सिर्फ इंतज़ार सिर्फ इंतज़ार सिर्फ इंतज़ार किया है।

बहुत अजीब सिलसिले है मोहब्बत इश्क मैं,
कोई वफ़ा के लिए रोया तो कोई वफ़ा कर के रोया।

तड़पता देख कर तरस तुम जाओ गए,
हुए तुम अगले बरस तुम भी जाओ गए।

रोज पिलाता हूँ एक जहर का प्याला उसे,
एक दर्द जो दिल में है, मरता ही नहीं है।

सबसे ज्यादा दर्द तब होता है,
जब हम अपना दर्द किसी को बता नहीं पाते।

कभी कभी ये क्यों लगता है,
कि तुम मेरी पूरी ज़िन्दगी हो,,
और मैं तुम्हारा लम्हा भी नहीं।

Dard Bhari Shayari Status

आज अलफ़ज़ नहीं मिल रहे थे,
दर्द लिख दिया हूँ महसूस कीजिये।

किताबों के अलावा जो चीज सबक देती है,
उसका नाम ज़िन्दगी है।

दर्द तो रोज का तमाशा है,
आज तो सदीद है साईं।

हम अपने दर्द का शिकवा तुमसे कैसे करें,
मोहब्बत तो हमने की है तुमतो बेक़ुसूर हो।

कभी तोडा कभी जोड़ा कभी फिर तोड़कर जोड़ा,
नाकारा कर दिए दिल को तेरी पेवन्द कारी ने।

कभी दर्द है तो दवा नहीं,
जो दवा मिली तो शिफा नहीं।
वो ज़ुल्म करते हैं इस तरह,
जैसे मेरा कोई खुदा नहीं।

मुझे सिर्फ इतना बता दो इंतज़ार करू तुम्हारा,
या बदल जाऊ तुम्हारी तरह।

बदला नहीं हूँ मैं,
मेरी भी कुछ कहानी है।
बुरा बन गया अब मैं,
सब अपनों की मेहरबानी है।

इस जिंदगी में कोई किसी का नही होता,
हम सोचते है,कोई तो है जो सिर्फ हमारा है,,
पर वक़्त आने पर तो वो भी हमारा नही होता।

कुछ अजीब है ये दुनिया यहाँ झूठ नहीं,
सच बोलने से रिश्ते टूट जाते है।

आईना आज फिर रिशवत लेता पकड़ा गया,
दिल में दर्द था, और चेहरा हस्ता हुआ पकड़ा गया।

काश कोई होता हमारा भी जो गले से लगा कर पूछता,
क्यों इतने उदास रहते हो आज कल।

मुस्कराने को मन तो बहुत करता है,
लेकिन बीता हुआ कल फिर से रुला देता है।

मतलब की दुनिया थी इसलिए छोड़ दिया सबसे मिलना,
वरना ये छोटी सी उम्र तन्हाई के काबिल नही थी।

लगे हैं इलज़ाम दिल पे जो मुझको रुलाते हैं,
किसी की बेरुखी और किसी और को सताते हैं।
दिल तोड़ के मेरा वो बड़ी आसानी से कह गए अलविदा,
लेकिन हालात मुझे बेवफा ठहराते है।

Dard Bhari Shayari 2 Line

जो था तुझ पर, तेरी बातों पर,
अब किसी और पर नहीं होता।
इस कदर टूटा हूँ तेरे इश्क में,
की अब तो यकीन पर भी यकीन नहीं होता।

छीन लेता है हर चीज मुझसे ए खुदा,
क्या तू मुझसे भी ज्यादा गरीब है।

दर्द भी उनको मिलता है,
जो रिश्ते दिल से निभाते हैं।

इंसान को इंसान धोखा नहीं देता,
बल्कि इंसान को उसकी उम्मीदें धोखा दे जाती है,,
जो वह दूसरों से रखता है।

बड़ी अजीब सी मोहब्बत थी तुम्हारी,
पहले पागल किया,,
फिर पागल कहा,,,
फिर पागल समझ कर छोड़ दिया।

चीज़ बेवफ़ाई से बढ़कर क्या होगी,
ग़म-ए-हालात जुदाई से बढ़कर क्या होगी।
जिसे देनी हो सज़ा उम्र भर के लिए,
सज़ा तन्हाई से बढ़कर क्या होगी।

रोते रहे तुम भी, रोते रहे हम भी,
कहते रहे तुम भी और कहते रहे हम भी।
ना जाने इस ज़माने को हमारे इश्क़ से क्या नाराज़गी थी,
बस समझाते रहे तुम भी और समझाते रहे हम भी।

वो देता है दर्द बस हमी को,
क्या समझेगा वो इन आँखों की नमी को।
​चाहने वालों की भीड़ से घिरा है जो हर वक़्त,
वो महसूस ​क्या ​करेगा ​बस ​एक हमारी कमी को।

ज़रा सी ज़िंदगी है, अरमान बहुत हैं,
हमदर्द नहीं कोई, इंसान बहुत हैं।
दिल के दर्द सुनाएं तो किसको,
जो दिल के करीब है, वो अनजान बहुत है।

दिल की हालात बताई नहीं जाती,
हमसे उनकी चाहत छुपाई नहीं जाती।
बस एक याद बची है उनके चले जाने के बाद,
हमसे तो वो याद भी दिल से निकाली नहीं जाती।

जो नजर से गुजर जाया करते हैं,
वो सितारे अक्सर टूट जाया करते हैं।
कुछ लोग दर्द को बयां नहीं होने देते,
बस चुपचाप बिखर जाया करते हैं।

See also  {75+} लोगों का क्या है शायरी इन हिंदी || Logo Ka Kya Hai Shayari In Hindi

तेरी आरज़ू मेरा ख्वाब है,
जिसका रास्ता बहुत खराब है।
मेरे ज़ख्म का अंदाज़ा न लगा,
दिल का हर पन्ना दर्द की किताब है।

रोने की सज़ा न रुलाने की सज़ा है,
ये दर्द मोहब्बत को निभाने की सज़ा है।
हँसते हैं तो आँखों से निकल आते हैं आँसू,
ये उस शख्स से दिल लगाने की सज़ा है।

हादसे इंसान के संग मसखरी करने लगे,
लफ्ज कागज पर उतर जादूगरी करने लगे।
कामयाबी जिसने पाई उनके घर बस गए,
जिनके दिल टूटे वो आशिक शायरी करने लगे।

उसने दर्द इतना दिया कि सहा ना गया,
उसकी आदत सी थी इसलिए रहा न गया।
आज भी रोती हूं उसे दूर देख के,
लेकिन दर्द देने वाले से यह कहा ना गया।

Dard Bhari Shayari 2 Line New

प्यार सभी को जीना सिखा देता है,
वफा के नाम पर मरना सिखा देता है।
प्यार नहीं किया तो कर के देख लो यारों,
जालिम हर दर्द सहना सिखा देता है।

दर्द बहुत हुआ दिल के टूट जाने से,
कुछ न मिला उनके लिए आँसू बहाने से।
वो जानते थे वजह मेरे दर्द की,
फिर भी बाज़ न आये मुझे आजमाने से।

गुलशन की बहारों पे सर-ए-शाम लिखा है,
फिर उस ने किताबों पे मेरा नाम लिखा है।
ये दर्द इसी तरह मेरी दुनिया में रहेगा,
कुछ सोच के उस ने मेरा अंजाम लिखा है।

उदास नहीं होना मुझे याद कर के,
मांगना चाहता हूं तुझसे कुछ फरियाद कर के।
ज़िन्दगी में मेरी फिर लौट के ना आना,
मै जी नहीं पाऊंगा तुझे बर्बाद कर के।

दुख होता है बहुत ज्यादा मुझको,
जब अपनों का साथ अचानक छूट जाता है।
कुछ कर नहीं पाता कुछ कह नहीं पाता,
हर बार ये दिल अकेला रह जाता है।

उसे पाया नहीं लेकिन उसको खोना भी नहीं है,
उसके बगैर आंसू लेकर रोना भी नहीं है।
प्यार का रुख नफ़रत में कुछ इस कदर बदला,
अब सोचते है कि उसका कभी होना भी नहीं है।

तेरी याद आई तो थोड़ा उदास हो जाऊंगा,
ज़िन्दगी से फिर एक बार निराश हो जाऊंगा।
कभी सोचा भी ना था ऐसा भी होगा,
तेरी ख़ुशी के लिए मै खुद को रूलाऊंगा।

तुझे पाने की कोशिश की बहुत मैने,
लेकिन शायद मेरी कोशिश में कमी रह गई।
वो कहते थे तुमको कभी दुख ना देंगे,
उनके नाम की मेरी आंखो में नमी रह गई।

जब कहा था तुमने हमारे सपने सच होंगे,
तब यकीन था तुम पर रब से भी ज्यादा।
लेकिन अब विश्वास चूर चूर हो गया है मेरा,
शायद तुमने अधूरा छोड़ दिया अपना वादा।

तुझको जाता देख कर दिल घबरा जाता था,
तुझे देख कर कभी कभी ये शर्मा जाता था।
लेकिन वो प्यार रहा ना वो शर्म रही,
जब तेरी याद में मै रो कर रात गुजारता था।

उदास ना होना अगर मुलाक़ात ना हो,
ख़फ़ा ना होना अगर आपसे बात ना हो।
खुदा करे ज़िन्दगी खुशियों से सजे आपकी,
भुला लेना उस वक़्त जब आपकी दिन से रात ना हो।

अंदर कोई झाके तो टुकड़ो में मिलूंगा,
यह हँसता हुआ चेहरा तो जमाने के लिए है।
तकलीफ़ भी मिटी नहीं दर्द भी रह गया,
पता नही आंसुओं के साथ क्या-क्या बह गया।

हम निभाने में लगे थे,
वो बहाने बनाने में लगे थे।

तेरे ऐसे सच्चे आशिक़ है हम,
दिलमे जिसके प्यार न हो कभी कम।
सच्चे प्यार में तो ज़िन्दगी महक जाती है,
ना जाने हमारी आँखे क्यों है नम।

रोता वही है जिसने कद्र किया हो सच्चा रिश्ता को,
मतलब पे रिश्ते रखने वालो को कोई रुला नहीं सकता।

दर्द भरी शायरी फोटो Hd

तुमको लेकर मेरा ख्याल नही बदलेगा,
साल बदलेगा मगर दिल का हाल नहीं बदलेगा।

जख्म ही देना तो पूरा जिस्म तेरे हवाले था,
बे रहम तूने वार क्या वो भी दिल ही वार क्या।

बदले हुए लोगो के बारे मैं क्या कहू यारो,
मैंने अपने ही प्यार को किसी और का होते देखा है।

नज़र और नसीब में भी क्या इत्तफ़ाक़ है,
नज़र उसे ही पसंद करती है जो नसीब में नही होता।

कल रात वो शख्स मेरे खवाबो का भी काटल कर गया,
लोग कितना मुक़ाम रखते है छोड़ जाने के बाद।

मै मर जाऊ तो उसे खार तक भी ना होने देना,
वो सख्श मसरूफ बहुत है कही उसका वक़्त बर्बाद न हो जाये।

कितना मुश्किल है मोहब्बत की कहानी लिखना,
जैसे पानी से पानी पे पानी लिखना।

मिलता भी नहीं तुम्हारे जैसे इस शहर में,
हमको क्या मालूम था के तुम भी किसी और के हो।

तुझे पाने की तमन्ना दिल से निकाल दी मैंने,
मगर आँखों को तेरे इंतज़ार की आदत सी बन गयी है।

वो मुझे से बिछड़े तो जैसे बिछड़ गयी ज़िन्दगी,
मैं ज़िंदा तो हूँ पर ज़िंदा नहीं रहा।

तेरे नफरत से भी मैंने रिश्ता निभाया है,
तूने बार बार मुझे फाल्तू होने का अहसास दिलाया है।

कोई मरता नहीं किसी ले लिए ये सच है,
मगर ये सच है कोई मर मर के जीता है किसी के लिए।

अभी मसरुफ हूँ काफी फुर्सत में सोचूंगा तुम्हे,
के तुझे याद रखने में क्या क्या भूले है हम।

मोहब्बत छोड़ कर हर एक जुर्म कर लेना,
वरना तुम भी मुसाफिर बन जाओगे तनहा रातों के।

भूल जाना तो दुनिया का रसम है दोस्त,
तुमने भुला दिया तो कोण का कमाल कर दिया।

Dard Bhari Shayari Photo Ke Sath

हम कहीं जायेंगे बना लेंगे जगह अपने लिए,
हम को आता है दिल में उतर जाना।

चाँद के रूप में आते ही नहीं तुम,
गम की रातों मैं अज़ाब जनस बहार होता।

अगर बिकने पे आ जाओ तो घट जाते है दाम अक्सर,
न बिकने का इरादा हो तो कीमत और बढ़ती है।

वो बेवफा यूँ ही बदनाम हो गया,
हजारो चाहने वाले थे किस किस से प्यार करता।

मसरूफियत में आती है बेहद तुम्हारी याद,
फुर्सत में तेरी याद से फुरसत नहीं मिलती।

साकी को गिला है के बिकती नहीं शराब,
और एक नाम है के होश में आने नहीं देता।

खुद ही रोए और खुद ही चुप हो गए,
ये सोचकर की कोई अपना होता तो रोने ना देता।

जरा सी गलतफहमी पर,
न छोड़ो किसी अपने का दामन।
क्योंकि जिंदगी बीत जाती है,
किसी को अपना बनाने में।

आँसू भी आते हैं और दर्द भी छुपाना पड़ता है,
ये जिंदगी है साहब यहां जबरदस्ती भी मुस्कुराना पड़ता है।

अदाएं कातिल होती हैं
आँखें नशीली होती हैं।
मोहब्बत में अक्सर होंठ सूखे होते हैं,
और आँखे गीली होती हैं।

जहर की भी जरुरत नहीं पड़ी हमें मारने के लिए,
तुम्हारे ऐसे बर्ताव ने ही हमें मार डाला।

दुआ करना दम भी उसी दिन निकले,
जिस दिन तेरे दिल से हम निकले।

आधा ख्वाब, आधा इश्क़, आधी सी है बंदगी,
मेरे हो पर मेरे नही कैसी है ये जिंदगी।

इस तरह मिली वो मुझे सालों के बाद,
जैसे हक़ीक़त मिली हो ख्यालों के बाद।
मैं पूछता रहा उस से ख़तायें अपनी,
वो बहुत रोई मेरे सवालों के बाद।

अगर खुदा ने पूछा तो कह देंगे,
हुई थी मोहब्बत मगर जिससे हुई,,
हम उसके काबिल न थे।

दर्द भरी शायरी फोटो डाउनलोड शेयरचैट

मुझे बहुत प्यारी है तुम्हारी दी हुई हर एक निशानी,
अब चाहे वो दिल का दर्द हो या आँखों का पानी।

अपना बनाकर फिर कुछ दिन में बेगाना बना दिया,
भर गया दिल हमसे तो मजबूरी का बहाना बना दिया।

हर पल यही सोचता रहा,
के कहा कमी रह गयी थी मेरी चाहत में।
उसने इतनी शिदत्त से मेरा दिल तोड़ा,
के आज तक नहीं संभल पाए।

हँसते हुए ज़ख्मों को भुलाने लगे हैं हम,
हर दर्द के निशान मिटाने लगे हैं हम।
अब और कोई ज़ुल्म सताएगा क्या भला,
ज़ुल्मों सितम को अब तो सताने लगे हैं हम।

हक़ीक़त जान लो जुदा होने से पहले,
मेरी सुन लो अपनी सुनाने से पहले।
ये सोच लेना भुलाने से पहले,
बहुत रोयी हैं ये आँखें मुस्कुराने से पहले।

न जाने क्यों हमें आँसू बहाना नहीं आता,
न जाने क्यों हाल-ऐ-दिल बताना नहीं आता।
क्यों सब दोस्त बिछड़ गए हमसे,
शायद हमें ही साथ निभाना नहीं आता।

कितना दर्द भरा था उनका मुझे छोड़ के जाना,
सुना भी कुछ नहीं और कहा भी कुछ नहीं।
कुछ इस तरह बरबाद हुए उनकी मोहब्बत में,
लौटा भी कुछ नहीं और बचा भी कुछ नहीं।

आज तेरी याद हम सीने से लगा कर रोये,
तन्हाई मैं तुझे हम पास बुला कर रोये।
कई बार पुकारा इस दिल ने तुम्हें,
और हर बार तुम्हें ना पाकर हम रोये।

न तस्वीर है तुम्हारी जो दीदार किया जाये,
न तुम हो मेरे पास जो प्यार किया जाये।
ये कौन सा दर्द दिया है तुमने ऐ सनम,
न कुछ कहा जाये न तुम बिन रहा जाये।

मेरा ख़याल ज़ेहन से मिटा भी न सकोगे,
एक बार जो तुम मेरे गम से मिलोगे,,
तो सारी उम्र मुस्करा न सकोगे।

कभी जो कहते थे तुम्हे कभी ना रोने देंगे,
आंसू भरी आंख लेकर तुझे कभी सोने देंगे।
आखिर वहीं हमारी आंख का आंसू बन गए,
जो कहते थे तुमको कभी खोने ना देंगे।

रोज़ उदास होते है हम,
और रात गुजर जाती है।
कहने को तो जी रहे है लेकिन,
हर पल हर लम्हा सांस निकलती जाती है।

दिल के टूटने से नही होती है आवाज़,
आंसू के बहने का नही होता है अंदाज़।
गम का कभी भी हो सकता है आगाज़,
और दर्द के होने का तो बस होता है एहसास।

तुझे चाहा भी था तुझे पाना भी था,
तेरे साथ खुशी का गीत गाना भी था।
लेकिन तुमने मुझे कुछ इस तरह धोखा दिया,
फिर टूटे हुए दिल को समझाना भी था।

आसमां मे धुआं और जमीं बंजर हैं,
नहीं देखा मैनें कभी जो एक मंजर हैं।
वो आये हैं किसी गलत इरादे से पास मेरे,
उनके एक हाथ मे फूल और दूसरे मे खंजर हैं।

दर्द भरी शायरी स्टेटस फोटो

वो हंसाने के बहाने से मुझे रूलाती हैं,
उसकी बेवफाई मेरे दिल को बहुत दुखाती हैं।
उसने घडी तोहफे मे दी हैं जरूर मुझे,
मगर वो वक्त किसी और के साथ बिताती हैं।

वो अपना बनाकर हमें तन्हा कर गये,
साथ जीने मरने के सपने दिखाकर गये।
कोई ख्याल ना रहा हमें अपनो का भी,
इस तरह से वो हमे अपना बनाकर गये।

सपनों मे आकर वो चले गये,
अपनो को भूलाकर वो चले गये।
ना जाने किस गुनाह की सजा दी हमें,
पहले हंसाया फिर रूला के चले गये।

दिल बिखर गया उन बेपरवाहों की चाहत मे,
जिन्दगी की चंद रातें भी कट जाएगी,,
तन्हाई के आलम मे।

दिल से निकले हुए हर एक शब्द ढूंढ रही हूं,
उनके साथ जिए हर एक पल ढूंढ रही हूं।

मोहब्बत के सफर में है वो पल भी गुजरे थे,
इंतजार में उनके ये नयन रातो को भी जगे थे।

साथ रहना और जुदा होना मुकद्दर की बात है,
प्यार दोनो ने किया था समझने की बात है।

मुझे मिलने और बिछड़ने,
में आफत नही होगी लेकिन,,
मुझे भूलाने से कयामत होगी।

मेरा इश्क हर बार तेरी,
बातो के आगे झुकता रहा।
मैं हर शाम शमा जला रहा,
और तू उसे बुझाता रहा।

चाहत से अब चाहत ना मिले दर्द में ना मिले,
अब दिल की दवा ख्वाहिश करो तो अरमा।
ना मिले जो इश्क कर गए,
तो मिले बस दिल को सजा।

मेरे आंखो मे यह जो पानी है,
ये तेरी बेवफाई की निशानी है।

जिंदगी भर साथ निभाने का वादा किया था तुमने,
अब बीच राह मे हमे छोड़ कर क्यो जा रहे हो तुम।

जा रही हूं तुझे छोड़कर अपना ख्याल,
रखना मै तुझे कभी याद ना आऊं,,
इस बात का ख्याल रखना।

See also  {200+} आप की कमी शायरी || Aap Ki Kami Shayari

दिल मे दर्द लिए गमो की बरसात लिखती हूं,
मै हर बेवफा शक्स की औकात लिखती हूं।

खुद के बनाए रिश्तो मे उलझती जा रही हूं,
एक तुझे पाने की कोशिश मे खोती जा रही हूं।

Dard Bhari Shayari Status Hindi

रख लो दिल में संभाल कर थोड़ी सी याद मेरी,
रह जाओ जब तनहा तो काम आएंगे हम।

आईना मेरा मेरे अपनो से बढ़कर निकला,
जब भी मै रोया कमबख्त मेरे साथ ही रोया।

तेरी याद मे हर दर्द से गुजर जाते है,
इतना मजबूर होते है कि मर जाते है।

लगी है मुझको गुलाबो की बद्दुआ शायद,
जिनको तोड़ा था मैने कभी तेरे लिए।

आँशु मुस्कुराहट से ज्यादा खास होती हैं,
क्योंकि मुस्कुराहट तो हर किसी के लिए होती हैं।
मगर आँशु उनके लिए होती हैं,
जिन्हें हम खोना नही चाहते।

मोहब्बत का नतीजा दुनिया मे हमने बुरा देखा हैं,
जिन्हें दावा था वफ़ा का उन्हें भी हमने बेवफा देखा हैं।

ना मैं तुझे खोना चाहता हूँ,
ना मैं तेरी याद में रोना चाहता हूँ।
जब तक है सांसे मेरी इस ज़िंदगी की,
मैं बस तेरे साथ जीना चाहता हूँ।

गुस्से से ब्लॉक करने से रिश्ते खत्म नही होते,
मगर ब्लॉक होने के बाद जो दर्द होता हैं,,
ना तो इंसान टूट ही जाता हैं।

मेरी उदासी तुम्हे कहा नजर आएगी,
तुम्हे देखकर तो हम मुस्कुराने लगते हैं।

बहुत लोग हैं उसे खुश रखने के लिए,
एक हम है जो उसकी यादों में खुश रहते हैं।

अनजाने में दिल गवा बैठे,
इस प्यार में कैसे धोखा खा बैठे।
उनसे क्या गिला करे भूल तो हमारी थी,
जो बिना दिल वाली से दिल लगा बैठे।

कदर कर लो उनकी जो,
तुमसे बिना मतलब की चाहत करते हैं।
दुनिया में ख्याल रखने वाले कम,
और तकलीफ देने वाले ज्यादा होते हैं।

हम जैसे बर्बाद दिलो का,
जीना क्या और मरना क्या।
आज तेरी महफ़िल से उठे हैं,
कल दुनिया से उठ जाएंगे।

प्यार वो नही जो आज ही के दिन किया जाए,
असल प्यार वो है जो हर दिन हर वक़्त हर लम्हा किया जाएगा।

अपने खिलाफ बाते खामोशी से सुन लो,
यकीन मानो वक्त बेहतरीन जवाब देगा।
वक़्त को भी हुआ है जरूर किसी से इश्क,
जो वो बेचैन है इतना कि ठहरता ही नहीं।

उदास नहीं होना, क्योंकि मैं साथ हूँ,
सामने न सही पर आस-पास हूँ।
पल्को को बंद कर जब भी दिल में देखोगे,
मैं हर पल तुम्हारे साथ हूँ।

कभी कभी न का मतलब इंकार नही होता,
कभी कभी हर नकामयाबी का मतलब हार नही होता।
अरे क्या हुआ तू हमारे साथ नही,क्योंकि,
हर वक्त साथ रहने का मतलब प्यार नही होता।

आपको पाकर अब खोना नही चाहते,
इतना खुश होकर अब रोना नही चाहते।
क्या आलम होगा आपसे मिलने का,
आँखों में नींद है पर सोना नही चाहते।

होले होले से मेरे दिल में आ कर उतर,
गये,जैसे मेरी सांसो में खुशबु बन कर बिखर।
गये, तेरे प्यार का जादू इस कदर चढ़ा है,जहाँ,
भी मई देखूं बस तुम ही तुम नजर आते हो।

तेरे दीवाने हो गये है इससे इंकार नही,
करते,हम कैसे कह दे के तुझसे हम प्यार नही।
करते, कुछ तेरी झील सी आँखों की भी,
शरारत थी,वरना ये गुनहा हम अकेले ही नही करते।

Dard Bhari Shayari In Hindi Text

तेरी मोहब्बत, तेरी वफ़ा, तेरा इरादा सिर्फ तू,
जाने, मै करता हूँ सिर्फ तुझसे मोहब्बत ये मेरा खुदा जाने।

आप इतना मुस्कुराते हो कहीँ,
फूलो को न खबर हो जाये।
आपकी अदाएं भी कुछ ऐसी है,
कहीँ उनकी नजर न हो जाये।

तेरे दीदार को निकलते है तारे,
तेरी महक से छा जाती है बहारे।
तेरे साथ दिखते हैं कुछ ऐसे नजारे,
अब तो चाँद भी तुझे छुप छुप के निहारे।

हम आपसे दूर है तो कुछ गम नही,
दूर रह कर भी भूलने बाले हम नही।
दूर रह कर मुलाकात नही हो पाती तो क्या हुआ,
तेरी यादे भी किसी मुलाकात से कम नही।

हम कोई हवा नही जो खो जाएंगे,
हम वक्त भी नही जो गुजर जायेंगे।
हम मौसम भी नही जो बदल जायेंगे,
हम तो वो आँसू है जो ख़ुशी हो या गम दोनों में नजर आएंगे।

कितने बहाने बनाके आपसे बात करते,
हैं हर पल हर घड़ी आपको महसूस।

करते है, जितनी बार आप साँसे भी नही लिया करते होंगे,
उतनी बार हम आपको याद किया करते हैं।

चाह कर भी दूर न रहे पाओगे,
रूठ कर भी हमे मनाओगे।
हम आपसे इश्क ही कुछ इस तरह करेंगे,
आप चाह कर भी हमसे जुदा न रहे सकोगे।

तुम न मिले तो टूट कर बिखर जायेंगे,
और जो मिल गये तो गुलशन की तरह खिल जायेंगे।
तुम न मिले तो जीते जी ही मर जायेंगे,
और जो मिल गये तो मर मर के भी जी जायेंगे।

अब न हम तुझे खोएंगे,
अब न तेरी याद में रोयेंगे।
अब तो बस हम यही कहेंगे,
अब तो बस तेरे साथ में रहेंगे।

पहले हम तन्हा थे इस दुनिया की भीड़ में,
सोचा था की शायद कोई नही हमारी तकदीर में।

फिर एक दिन आप आये हमारी जिन्दगी में,
फिर हमने सोचा शायद आप ही थे हमारी हाथो की लकीर में।

एक खूबसूरत एहसास बे आवाज हो गया,
इश्क अब इश्क ना रहा जैसे रिवाज।

हो गया चेहरा तो मिल जाएगा हमसे खूबसूरत,
पर बात जब दिल की आएगी तो हार जाओगे।

दिल के सागर में लहरे उठाया ना करो,
ख्वाब बनकर नींद चुराया ना करो।
बहुत चोट लगती है मेरे दिल को,
तुम ख्वाबो में आ कर यूँ तड़पाया ना करो।

हम आपकी सासें बनके आपका साथ निभाएंगे,
यही कोशिश करेंगे कभी नही।

सतायेंगे अगर हमारी मोहब्बत पसन्द न आये तो कह देना,
हम आपकी जिंदगी से बहुत दूर चले जायेगे।

बहुत खूबसूरत है ये आँखे तुम्हारी,
इन्हें बना दो चाहत हमारी हम नही।

मांगते दुनिया की खुशियाँ,
जो तुम बन जाओ मोहब्बत हमारी।

हम कभी रेत पर नाम नहीं लिखते,
क्योंकि रेत पर लिखे नाम नहीं टिकते।
इस जमाने ने हमें पत्थर दिल करार दे दिया,
लेकिन पत्थरों पर लिखे नाम कभी नहीं मिटते।

Dard Bhari Shayari In Hindi For Family

लोग अक्सर मोहब्बत को भुला देते हैं,
कुछ लोग मोहब्बत में रुला देते हैं।
अरे मोहब्बत करना तो गुलाबों से सीखो,
जो खुद टूट कर दो दिलो को मिला देते है।

रास्ता भी वही से शुरू होता है मेरा जहाँ आप होते हो,
नजरे भी वही तक जाती है मेरी जहाँ तक आप होते है।
यूँ तो हजारो फूल खिलतें है लेकिन,
महक वहीं तक होती है जहाँ तक आप होते हो।

जब भी तुझसे मुलाकातें होने लगतीं हैं,
एक अजब सी लहर सीने में दौड़ने लगती है।
यूं तो हजारों हैं इस जमाने में दिल लगाने के लिए,
फिर भी न जाने क्यों ये तेरे चहरे पर ठहरने लगती है।

तेरी चाहत में हम जमाना,
भूल गये, किसी और को हम अपनाना भूल गये।
तुम से मोहब्बत है पूरी दुनिया को,
बताया हमने, बस एक तुझे ही बताना भूल गये।

कश्ती है पुरानी मगर दरिया बदल गया,
मेरी तलाश का भी तो जरिया बदल गया।
न शक्ल बदली ना ही बदला मेरा किरदार,
बस लोगों के देखने का नजरिया बदल गया।

दुश्मन भी मेरे मुरीद है शायद,
वक्त बेवक्त मेरा नाम लिया करते हैं।
मेरी गली से गुजरते हैं छुपा के खंजर,
रूबरू होने पर सलाम किया करते हैं।

रोज फूल बिखरतें हैं रोज बहार छाती,
है, रोज सूरज ढलता है और रोज शाम हो जाती है।

तेरी याद में रात करवट बदल बदल के कट जाती है,
रोज यादों का सहारा तो सजता है।
पर रोज मुलाकात नही हो पाती है।
जिसे महसूस करने वाला चाहिए प्यार तो एक वेज़ुबां लव्ज़ है।

जिसे महसूस करने वाला चाहिए,
प्यार तो एक वेज़ुबां लव्ज़ है।
जिसे बोल ने वाला चाहिए,
प्यार तो वो रिश्ता है जिसे अपनाने वाले चाहिये।

इश्क के तोहफे तुम क्या जानो सनम,
तुमने तो इश्क भी ऐसे किया जैसे ख़रीदा।

हो, मेरी तरह ज़रा भी तमाशा किए बगैर,
रो कर दिखाओ आँख को गीला किए बगैर।

मुझे को अब तुझ से भी मोहब्बत नहीं रही,
आई ज़िंदगी तेरी भी मुझे ज़रूरत।

नहीं रही, बुझ गये अब उस के इंतेज़ार के वो जलते दिए,
कहीं भी आस-पास उस की आहट नहीं रही।

लिखना तो ये था की खुश हूँ तेरे बगैर भी,
पर कलम से पहले आँसु कागज पर।

गिर गया जब से तेरी याद मेरे दिल में समायी है,
ए जान सच कहता हु मुझे नींद नहीं आई है।

तू कितना दूर है मुझसे लेकिन मेरे पास भी है,
तू नही है तेरी कमी का अहसास भी है।
वैसे तो लाखों है इस ज़माने में लेकिन,
तू जान भी है और खास भी है।

न कहा करो हर बार छोड़ेंगे तुमको,
न ही ईंटें आम है न तेरे बस की बात है।

कैसे करें बयाँ तुझसे दर्द की इन्तहा को अब्बास,
अपनी ही निगाहों की नमी देख कर रो पड़े आज हम।

कहा तलाश करोगे मुझ जैसा शख्स,
जो तुम से जुदा भी रहे और तुमसे मोहबात भी करे।

ज़िन्दगी यु भी कम है मोहब्बत के लिए,
यु रूठ के वक़्त गुजारने की ज़रूरत किया है।

Dard Bhari Shayari Photo Download

न कर तो इतनी कोशिश मेरे दर्द को समझने की,
तो पहले इश्क़ कर फिर चोट खा फिर लिख मेरे दर्द को सुनने की।

दाद देते है हम तुम्हारे नज़र अंदाज़ करने के हुनर को,
जिस ने भी सिखाया है वो उद्ताद कमाल का होगा।

आखिर गिरते हुवे आँसुओ ने मुझ से पूछ ही लिया,
निकाल दिया न मुझे उस के लिए जीसस के लिए तो कुछ भी नहीं।

मेरी मोहब्बातें भी अजीब थी मेरा फैज़ भी था कमाल पर,
कभी सब कुछ मिला बिना तलब के तो कभी कुछ ना मिला सवाल पर।

गलती हुई की उसे जान से भी ज्यादा चाहने लगे,
क्या पता थी की मेरी इतनी वफ़ा उसे बेवफा कर देगी।

तूने दिए है वो दर्द ही सही,
तुझसे मिला है तो इनाम है मेरा।

उनको लगता है की मुझको दर्द नहीं होता,
खैर, अब बात को क्या बढ़ाना नहीं होता, नहीं होता।

खामोशियाँ कर दें बयां तो अलग बात है,
कुछ दर्द है ऐसे जो लफ़्ज़ों में उतारे नहीं जाते।

रात की गहराई आँखों में उतर आई,
कुछ ख्वाब थे और कुछ मेरी तन्हाई।
ये जो पलकों से बह रहे हैं हल्के हल्के,
कुछ तो मजबूरी थी कुछ तेरी बेवफाई।

बिछड़ के तुमसे ज़िन्दगी सज़ा लगती है,
ये सांस भी जैसे मुझसे ख़फ़ा लगती है।
अगर उम्मीद-ए-वफ़ा करूँ तो किससे करूँ,
मुझको तो मेरी ज़िंदगी भी बेवफा लगती है।

हो सकता है हमने अनजाने में आपको कभी रुला दिया,
आपने दुनिया के कहने पे हमे भुला दिया।
हम तो वैसे भी अकेले थे,
क्या हुआ अगर आपने एहसास दिला दिया।

दर्द भरी शायरी हिंदी में

किस्मत ने जैसा चाहा वैसे ढल गए हम,
बहुत संभल के चले फिर भी फिसल गए हम।
किसी ने विश्वास तोडा तो किसी ने दिल,
और लोगों को लगा की बदल गए हम।

छोड़ दिया है किस्मत की लकीरों पर यकीन करना,
जब लोग बदल सकते है तो,किस्मत क्या चीज है।

ज़िंदगी में दो चीजे हमेशा,
टूटने के लिए ही होती है।
साँस और साथ साँस टूटने से,
तो इन्सान एक बार मरता है।
पर किसी का साथ टूटने से,
इन्सान बार बार मरता है।

खुदा ने बड़े अजीब से,
दिल के रिश्ते बनाए है।
सबसे ज्यादा वही रोया है,
जिसने ईमानदारी से रिश्ते निभाए है।

सबसे ज्यादा दर्द तब होता हैं,
जब बिना किसी गलती के लोग।
हमें गलत समझ लेते हैं,
और साथ छोड़ देते हैं।

See also  {100+} विश्वास पर धोखा शायरी || Vishwas Par Dhoka Shayari

दर्द भी उन्हीं को मिलते हैं,
जो रिश्तें दिल से निभाते हैं।

आज मैंने परछाईं से पूछ ही लिया,
क्यों चलती हो मेरे साथ?
उसने भी हँसके कहा,
दूसरा कौन है तेरे साथ।

बहुत कुछ सिखाया जिंदगी के सफर ने अनजाने में,
वो किताबों में दर्ज था ही नहीं,,
जो पढ़ाया सबक जमाने ने।

कुछ दर्द ऐसे होते है,
जिन्हे सिर्फ सह सकते है,,
कह नहीं सकते।

कुछ लोग भरोसे के लिए रोते है,
और कुछ लोग भरोसा करके रोते है।

टूट कर चाहना और फिर टूट जाना,
बात छोटी है मगर जान निकल जाती है।

जिंदगी में बेशक हर मौके का फायदा उठाना,
पर किसी के भरोसे का फायदा कभी भी मत उठाना।

वक्त बदल जाने से इतना तकलीफ़ नहीं होती,
जितनी किसी अपने के बदल जाने से होती है।

एक खूबसूरत सा रिश्ता यूं ही खत्म हो गया,
हम दोस्ती निभाते गए,,
और उससे मोहब्बत हो गया।

दुःख तो अपने ही देते है,
वर्ना गैरो को क्या पता की,,
हमें तकलीफ़ किस बात से होती है।

तकलीफ़ ये नहीं की किस्मत ने मुझे धोखा दिया,
मेरा यकीन तुम पर था किस्मत पर नहीं।

जरूरी नहीं हर टूटा हुआ इंसान आपको रोता हुआ मिले,
कुछ अपनी मुस्कान के पीछे लाखों दर्द छुपाए रखते हैं।

सोचा ही नहीं था जिंदगी में ऐसे भी फ़साने होंगे,
रोना भी जरुरी होगा आँसू भी छुपाने होंगे।

हर पल साथ देने का वादा करते हैं तुझसे,
क्यों अपनापन इतना ज्यादा है तुझसे।
कभी ये मत सोचना भूल जायेंगे तुझे हम,
हर पल साथ निभाने का वादा है तुझसे।

वफ़ा का दरिया कभी रुकता नही,
मोहब्बत में प्रेमी कभी झुकता नही।
किसी की खुशियों के खातिर चुप है,
पर तू ये न समझना की मुझे दुःखता नही।

हम तो ख्वाबो की दुनिया में बस खोते गये,
होश तो था फिर भी मदहोश होते गये।
उस अजनबी चेहरे में क्या जादू था,
न जाने क्यों हम उसके होते गये।

हम जानते है आप जीते हो जमाने के लिए,
एक बार तो जीके देखो सिर्फ हमारे लिए।
इस नाचीज़ की दिल क्या चीज़ है,
हम तो जान भी दे देंगे आप को पाने के लिए।

कोई मिला ही नही हमे कभी हमारा बन कर,
वो मिला भी तो हमे सिर्फ किनारा बनकर।
हर ख्वाब बन कर टुटा है यहां,
अब बस इंतज़ार ही मिला है एक सहारा बन कर।

चिंगारी का ख़ौफ़ न दिया करो हमे,
हम अपने दिल में दरिया बहाय बैठे है।
अरे हम तो कब का जल गये होते इस आग में,
लेकिन हमतो खुद को आंसुओ में भिगोये बैठे है।

अब मोहब्बत नही रही इस जमाने में,
क्योंकि लोग अब मोहब्बत नही,,
मज़ाक किया करते है इस जमाने में।

मंजिल भी उसकी थी, रास्ता भी उसका था,
एक मैं ही अकेला था, बाकि सारा काफिला भी उसका था।
एक साथ चलने की सोच भी उसकी थी,
और बाद में रास्ता बदलने का फैसला भी उसी का था।

अब तेरे बिना जिंदगी गुजारना मुमकिन नही है,
अब और किसी को इस दिल में बसाना आसान नही है।
हम तो तेरे पास कब के चले आये होते सब कुछ छोड़ कर,
लेकिन तूने कभी हमे दिल से पुकारा ही नही है।

होले होले कोई याद आया करता है,
कोई मेरी हर साँसों को महकाया करता है।
उस अजनबी का हर पल शुक्रिया अदा करते हैं,
जो इस नाचीज़ को मोहब्बत सिखाया करता है।

तरसते थे वो हमसे मिलने को कभी,
आज वो मेरी परछाई से कतराते हैं।
हम भी वहीँ हैं, दिल भी वहीँ हैं,
जाने कैसे यूँ लोग बदल जाते हैं।

वो बिछड़ के हमसे ये दूरियां कर गई,
न जाने क्यों ये मोहब्बत अधूरी कर गई।
अब हमे तन्हाइयां चुभती है तो क्या हुआ,
कम से कम उसकी सारी तमन्नाएं तो पूरी हो गई।

दिन हुआ है, तो रात भी होगी,
मत हो उदास, उससे कभी बात भी होगी।
वो प्यार है ही इतना प्यारा,
ज़िंदगी रही तो मुलाकात भी होगी।

सोचा था तड़पायेंगे हम उन्हें,
किसी और का नाम लेके जलायेगें उन्हें।
फिर सोचा मैंने उन्हें तड़पाके दर्द मुझको ही होगा,
तो फिर भला किस तरह सताए हम उन्हें।

अगर बिछड़ने से मुस्कुराहट लौट आये तुम्हारी,
तो तुम्हे हक है की मुझसे दूरियां बना लो।

हम तेरा हाल पूंछते भी कैसे सुना है,
मोहब्बत करने वाले बोलते कम रोतें ज्यादा हैं।

जब वो लड़की मुझे पहली बार देख कर मुस्कुराई थी,
हम तो तभी समझ गये थे ये लड़की हमे उम्र भर रुलायेगी।

जहाँ खामोश फिजा थी, साया भी न था,
हमसा कोई किस जुर्म में आया भी न था।
न जाने क्यों छिनी गई हमसे हंसी,
हमने तो किसी का दिल दुखाया भी न था।

एक पल में ज़िन्दगी भर की उदासी दे गया,
वो जुदा होते हुए कुछ फूल बासी दे गया।
नोच कर शाखों के तन से खुश्क पत्तों का लिबास,
ज़र्द मौसम बाँझ रुत को बे-लिबासी दे गया।

ग़म के दरियाओं से मिलकर बना है यह सागर,
आप क्यों इसमें समाने की कोशिश करते हो।
कुछ नहीं है और इस जीवन में दर्द के सिवा,
आप क्यों इस ज़िंदगी में आने की कोशिश करते हो।

मेरे दिल में न आओ वरना डूब जाओगे,
ग़म-ए-अश्कों के सिवा कुछ भी नहीं अंदर।
अगर एक बार रिसने लगा जो पानी,
तो कम पड़ जायेगा भरने के लिए समंदर।

साँस थम जाती है पर जान नहीं जाती,
दर्द होता है पर आवाज़ नहीं आती।
अजीब लोग हैं इस ज़माने में ऐ दोस्त,
कोई भूल नहीं पाता और किसी को याद नहीं आती।

दिल मेरा जो अगर रोया न होता,
हमने भी आँखों को भिगोया न होता।
दो पल की हँसी में छुपा लेता ग़मों को,
ख़्वाब की हक़ीक़त को जो संजोया नहीं होता।

लिखूं कुछ आज यह वक़्त का तकाजा है,
मेरे दिल का दर्द अभी ताजा-ताजा है।
गिर पड़ते हैं मेरे आंसू मेरे ही कागज पर,
लगता है कि कलम में स्याही का दर्द ज्यादा है।

वो नाराज़ हैं हमसे कि हम कुछ लिखते नहीं,
कहाँ से लाएं लफ्ज़ जब हमको मिलते नहीं।
दर्द की ज़ुबान होती तो बता देते शायद,
वो ज़ख्म कैसे दिखाए जो दिखते नहीं।

खून बन कर मुनासिब नहीं दिल बहे,
दिल नहीं मानता कौन दिल से कहे।
तेरी दुनिया में आये बहुत दिन रहे,
सुख ये पाया कि हमने बहुत दुःख सहे।

प्यार का एहसास तुझे दिला ना सका,
मोहब्बत का फूल मै खिला ना सका।
लेकिन तुमने भी मेरे प्यार में बेवफाई की,
पर आज भी तुझे मै भुला ना सका।

तकलीफ ये नहीं कि तुम्हें अज़ीज़ कोई और है,
दर्द तब हुआ जब हम नजरंदाज किए गए।

मुझको तो दर्द-ए-दिल का मज़ा याद आ गया,
तुम क्यों हुए उदास तुम्हें क्या याद आ गया?
कहने को जिंदगी थी बहुत मुख्तसर मगर,
कुछ यूँ बसर हुई कि खुदा याद आ गया।

वो तो अपना दर्द रो-रो कर सुनाते रहे,
हमारी तन्हाइयों से भी आँख चुराते रहे।
हमें ही मिल गया खिताब-ए-बेवफा क्योंकि,
हम हर दर्द मुस्कुरा कर छुपाते रहे।

ज़हर देता है कोई कोई दवा देता है,
जो भी मिलता है मेरा दर्द बढ़ा देता है।

यूँ तो हर एक दिल में दर्द नया होता है,
बस बयान करने का अंदाज़ जुदा होता है।
कुछ लोग आँखों से दर्द को बहा लेते हैं,
और किसी की हँसी में भी दर्द छुपा होता है।

मेरे इस दर्द की वजह भी वो हैं,
और मेरे दर्द की दवा भी तो वो हैं।
वो नमक ज़ख्मों पे लगाते हैं तो क्या,
मोहब्बत करने की वजह भी तो वो हैं।

एक नया दर्द मेरे दिल में जगा कर चला गया,
कल फिर वो मेरे शहर में आकर चला गया।
जिसे ढूंढते रहे हम लोगों की भीड़ में,
मुझसे वो अपने आप को छुपा कर चला गया।

आरजू नहीं के ग़म का तूफान टल जाये,
फ़िक्र तो ये है तेरा दिल न बदल जाये।
भुलाना हो अगर मुझको तो एक एहसान करना,
दर्द इतना देना कि मेरी जान निकल जाये।

दिल में है जो दर्द वो दर्द किसे बताएं,
हंसते हुए ये ज़ख्म किसे दिखाएँ।
कहती है ये दुनिया हमे खुश नसीब,
मगर इस नसीब की दास्ताँ किसे बताएं।

मोहब्बत का मेरे सफर आख़िरी है,
ये कागज कलम ये गजल आख़िरी है।
मैं फिर ना मिलूँगा कहीं ढूंढ लेना,
तेरे दर्द का अब ये असर आख़िरी है।

दर्द से हाथ न मिलाते तो और क्या करते,
गम में आँसू न बहते तो और क्या करते।
उसने मांगी थी हमसे रौशनी की दुआ,
हम अपना दिल न जलाते तो और क्या करते।

सजा कैसी मिली हमको तुझसे दिल लगाने की,
रोना ही पड़ा जब कोशिश की मुस्कुराने की।
कौन बनेगा यहाँ मेरी दर्द भरी रातों का हमराज,
दर्द ही मिला है जो तूने कोशिश की आजमाने की।

ना कर तू इतनी कोशिशे,
मेरे दर्द को समझने की।
पहले इश्क़ कर फिर ज़ख्म खा,
फिर लिख दवा मेरे दर्द की।

बिछड़ के तुम से ज़िंदगी सज़ा लगती है,
यह साँस भी जैसे मुझ से ख़फ़ा लगती है।
तड़प उठता हूँ मैं दर्द के मारे,
ज़ख्मों को जब तेरे शहर की हवा लगती है।
अगर उम्मीद-ए-वफ़ा करूँ तो किस से करूँ,
मुझ को तो मेरी ज़िंदगी भी बेवफ़ा लगती है।

प्यार मुहब्बत का सिला कुछ नहीं,
एक दर्द के सिवा मिला कुछ नहीं।
सारे अरमान जल कर ख़ाक हो गए,
लोग फिर भी कहते हैं जला कुछ भी नहीं।

जिस दिल पे चोट न आई कभी,
वो दर्द किसी का क्या जाने।
खुद शम्मा को मालूम नहीं,
क्यूँ जल जाते हैं परवाने।

ना किया कर अपने दर्द को,
शायरी में बयान ऐ दिल।
कुछ लोग टूट जाते हैं,
इसे अपनी दास्तान समझकर।

हम ने कब माँगा है तुम से अपनी वफ़ाओं का सिला,
बस दर्द देते रहा करो मोहब्बत बढ़ती जाएगी।

दर्द है दिल में पर इसका एहसास नहीं होता,
रोता है दिल जब वो पास नहीं होता।
बर्बाद हो गए हम उसके प्यार में,
और वो कहते हैं इस तरह प्यार नहीं होता।

नफ़रत करना तो हमने कभी सीखा ही नहीं,
मैंने तो दर्द को भी चाहा है अपना समझ कर।

दिल को ऐसा दर्द मिला जिसकी दवा नहीं,
फिर भी खुश हूँ मुझे उस से कोई शिकवा नहीं।
और कितने अश्क बहाऊँ अब उस के लिए,
जिसको खुदा ने मेरी किस्मत में लिखा ही नहीं।

कौन कहता है नफ़रतों में दर्द है मोहसिन,
कुछ मोहब्बतें भी बड़ी दर्द नाक होती है।

शीशा तो टूट कर, अपनी कशिश बता देता है,
दर्द तो उस पत्थर का हैं, जो टुटने के काबिल भी नही।

उन लोगों का क्या हुआ होगा,
जिनको मेरी तरह गम ने मारा होगा।
किनारे पर खड़े लोग क्या जाने,
डूबने वाले ने किस किस को पुकारा होगा।

वो नही आती पर अपनी निशानी भेज देती है,
ख्वाबो में दास्ताँ पुरानी भेज देती है
उसकी यादों के पल कितने भी मीठे हैं,
मगर कभी कभी आँखों में पानी भेज देती है।

जाने लागे जब वो छोड़ के दामन मेरा,
टूटे हुए दिल ने एक हिमाक़त कर दी।
सोचा था कि छुपा लेंगे ग़म अपना,
मगर कमबख्त आँखों ने बगावत।

कभी रो के मुस्कुराए कभी मुस्कुरा के रोए,
जब भी तेरी याद आई तुझे भुला के रोए।
एक तेरा ही तो नाम था जिसे हज़ार बार लिखा,
जितना लिख के खुश हुए उस से ज़यादा मिटा के रोए।

ना मेरा दिल बुरा था,
ना उसमे कोई बुराई थी।
बस नसीब का खेल है,
क्योंकि किस्मत में जुदाई थी।

Sharing Is Caring:

Leave a Comment